Loading ...
Sorry, an error occurred while loading the content.

Re: [fukuoka_farming] Fwd: ऋषि खे ती कार्य शाला समा पन दिनांक २२ फरवर ी २०१२

Expand Messages
  • Anant Joglekar
    अगली ऋषि खेती नदी मित्रों की कार्य शाला देहरादून के पास
    Message 1 of 3 , Feb 25, 2012
    • 0 Attachment
      अगली ऋषि खेती नदी मित्रों की कार्य शाला देहरादून के पास नवगांव मे
      मार्च के महीने मे की जाएगी.

      May I request you sir to kindly inform the dates of next conference as soon as the program is scheduled.

       
      Best Regards

      anant joglekar
      9423089706

      The ultimate goal of natural farming is not simply growing crops but the cultivation and perfection of human beings.  Masanobu Fukuoka



      >________________________________
      > From: Raju Titus <rajuktitus@...>
      >To: fukuoka farming <fukuoka_farming@yahoogroups.com>; Yamuna Jiye Abhiyaan <yamunajiye@...>; sumant joshi <sumant.jo@...>
      >Sent: Wednesday, 22 February 2012 7:12 PM
      >Subject: [fukuoka_farming] Fwd: ऋषि खेती कार्य शाला समापन दिनांक २२ फरवरी २०१२
      >
      >

      >---------- Forwarded message ----------
      >From: Raju Titus <rajuktitus@...>
      >Date: 2012/2/22
      >Subject: Fwd: ऋषि खेती कार्य शाला समापन दिनांक २२ फरवरी २०१२
      >To: Kaushik katari <katari@...>, Gopi kant Ghosh <
      >gopikant1945@...>, Baba Mayaram <babamayaram@...>,
      >sarvoday press service <chinmay.saroj@...>
      >
      >---------- Forwarded message ----------
      >From: Raju Titus <rajuktitus@...>
      >Date: 2012/2/22
      >Subject: ऋषि खेती कार्य शाला समापन दिनांक २२ फरवरी २०१२
      >To: Raju Jamnani <raju.jamnani@...>
      >
      >नदी मित्र ऋषि खेती कार्यशाला का समापन
      >इस कार्य शाला का समापन नर्मदा अंचल के जाने माने नदी मित्र श्री गोपिकांत
      >घोष जी कर कमलो से हुआ. जैसा की विदित है की श्री गोपिकांत जी अनेक वर्षों से
      >नर्बदा जी की सेवा में लगे हैं. वे अब यमुना जी के मित्रों साथ जुड़ गए हैं. सभी
      >ने यहाँ निर्णय लिया की हम अपनी मां स्वरुप प्राण दायनी नदियों को बचाने के
      >लिए मिल जुल कर काम करेंगे. सभी ने ऋषि खेती जो एक पर्यामित्र टिकाऊ खेती है
      >को नदियों के केचमेंट में जल के संरक्षण के लिए सर्वोत्तम तकनीक स्वीकारा है.
      >इस को करने से बरसात का पानी जमीन के द्वारा सोख लिया जाता है ये बहता नहीं
      >है. जिस से खेतों की खाद भी बहने से रुक जाती है और बीमार धरती मां स्वस्थ हो
      >जाती हैं. ये खेती बिना सरकारी कर्ज,अनुदान और मुआवजे से हो रही है. इस मे
      >मशीन ,रसायन,उर्वरक कम्पोस्ट गेर जरुरी है. ये असली जैविक खेती है.
      >भारत के सबसे विकसित कहे जाने किसानी छेत्र से आये नदी मित्र किसानो ने इस
      >योजना को अपने खेत में करने और करवाने का संकल्प लिया. अमेरिका से आयीं लिंडा
      >ने कहा की ऋषि खेती जल,जंगल जमीन और किसानो को बचाने का सबसे उत्तम उपाय है
      >यहाँ आकर मेरी आंखे खुल गयीं. अमेरिका में हो रही बिना जुताई की जैविक खेती के
      >बारे बताते हुए उन्होंने बताया की इस से सूखे खेतों में सिंचाई वाली खेती से
      >भी अधिक उत्पादन मिल रहा है. सूखे की समस्या का अंत हो गया है. सूखी
      >नदियों में पानी
      >बहने लगा है. किसानो के बच्चे खेतों में वापस लोटने लगे हैं. जुताई आधारित
      >जैविक खेती के बारे मे पूछने पर उन्होंने बताया की जुताई कर के की जाने जैविक
      >खेती नकली जैविक खेती है. इस से भूमि जल और जैव विवधताओं का छरन होता है.
      >कनालसी गाँव यमुनानगर के किसान प्रधानजी ने बताया मेरे पास एक लाख बीस हजार
      >की गाय है जो ३० लिटर ढूध देती है जिसे तीन बार दुहना पड़ता है. हरे चारे की
      >हमारे यहाँ साल भर कमी रहती है. हरे चारे के लिए की जारही पेड़ों की ऋषि खेती
      >को देख कर मेरा मन प्रसन्न हो गया है. मै भी इसे शुरू करूंगा. गो संवर्धन के
      >लिए चारे के पेड़ों की ऋषि खेती सर्वोत्तम उपाय है. यहाँ गाय के चारे को मिट्टी
      >मे मिला देने या जला देने से गो वंश की हालत बहुत ख़राब हो रही है. गो हत्या
      >का यही मुख्य कारण है. चारा नहीं है इस लिए जानवर पालना समस्या बन गया है.
      >आखरी दिन सभी नदी मित्रों ने माँ नर्बदा के दर्शन किये, बोटिंग की और जम
      >कर स्नान किया उन्होंने घाटों मे हो रही साफ सफाई, नदी के जल और यमुनाजी के
      >घाटों और जल का उदाहरण देते हुए कहा की यहाँ की नगर पालिका जागरूक है. किन्तु
      >प्लास्टिक के कचरे के प्रदुषण और नालों के द्वारा नदी मे डाली जा रही गंदगी
      >से उन्हें बहुत दुःख हुआ.
      >अगली ऋषि खेती नदी मित्रों की कार्य शाला देहरादून के पास नवगांव मे
      >मार्च के महीने मे की जाएगी.
      >
      >--
      >*Raju Titus. Rishi kheti farm.Hoshangabad. M.P. 461001.*
      >+919179738049.
      >http://picasaweb.google.com/rajuktitus
      >fukuoka_farming yahoogroup
      >http://rishikheti.blogspot.com/
      >
      >--
      >*Raju Titus. Rishi kheti farm.Hoshangabad. M.P. 461001.*
      >+919179738049.
      >http://picasaweb.google.com/rajuktitus
      >fukuoka_farming yahoogroup
      >http://rishikheti.blogspot.com/
      >
      >--
      >*Raju Titus. Rishi kheti farm.Hoshangabad. M.P. 461001.*
      >+919179738049.
      >http://picasaweb.google.com/rajuktitus
      >fukuoka_farming yahoogroup
      >http://rishikheti.blogspot.com/
      >
      >[Non-text portions of this message have been removed]
      >
      >
      >
      >
      >

      [Non-text portions of this message have been removed]
    Your message has been successfully submitted and would be delivered to recipients shortly.