Loading ...
Sorry, an error occurred while loading the content.

मजदूरों की चिट्ठी म ुख्यमंत्री के नाम

Expand Messages
  • Sunil SJP
    मजदूरों ने मुख्यमंत्री से पूछा ---आपके बच्चे कौनसे स्कूल में
    Message 1 of 1 , May 2, 2013
                         
                               मजदूरों ने मुख्यमंत्री से पूछा ---आपके बच्चे कौनसे स्कूल में पढते हैं?

                                             मजदूरों की चिट्ठी मुख्यमंत्री के नाम

             एक मई, २०१३ को मजदूर दिवस को हरदा में रेलवे मालगोदाम  में हम्मालों और मजदूरों की सभा हुई. इस मौके पर सबने दस्तखत करके मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री को एक चिट्ठी भेजी.
     
            तीन दिन पहले भोपाल में मजदूर महापंचायत में मुख्यमंत्री ने मजदूरों के बच्चों की शिक्षा के लिए कुछ घोषणाएँ की, जैसे-- एक सौ करोड़ रुपये की लगत से भोपाल में अत्याधुनिक एजुकेशन सिटी की स्थापना, मजदूर का बच्चा मेडिकल में पहुँचने पर १०००० रु., इंजीनियरिंग में पहुँचने पर ७००० रु., आई ए एस या एम पी पी एस सी की परीक्षा पास करने पर २०००० का अनुदान, दसवीं और बारहवीं पास करने पर मेरिट के आधार पर ५०० मजदूर बच्चों को २५००० रु. की मदद, आदि.
           
             लेकिन मजदूरों ने पूछा कि हमारे बच्चे वहां तक पहुचेंगे कैसे? और कितनो को इसका लाभ मिलेगा?

             उन्होंने चिट्ठी में लिखा कि सरकारी स्कूलों की हालत चौपट हो चुकी है. प्राइवेट स्कूल की फीस वे दे नहीं सकते.

             उन्होंने पूछा कि आपके बच्चे कौनसे स्कूल में पढते हैं? हमारे बच्चों को भी उसी स्कूल में पढाओ या फिर मुख्यमंत्री, सारे  मंत्री, अफसरों के बच्चे भी सरकारी स्कूलों में पढ़ें.  

             उन्होंने मांग की कि बिना भेदभाव के समान-साझा स्कूल प्रणाली लागू की जाय और शिक्षा की पूरी जिम्मेदारी सरकार ले.
             सभा को समाजवादी जन परिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुनील तथा अन्य मजदूर नेताओं ने संबोधित किया.

           ( चिट्ठी का मज़मून सलंग्न है.)

    --
    *Sunil*
    ***Vill+post : Kesla, Via Itarsi,  Distt : Hoshangabad, (M.P.) 461 111*
    *Mo. : 09425040452*
    *
    *

Your message has been successfully submitted and would be delivered to recipients shortly.